संसद में सुदर्शन भगत ने उठाया झारखंड में कम बारिश का मुद्दा, राज्‍य को सूखाग्रस्‍त घोषित करने की मांग

झारखंड मुख्य समाचार
Spread the love

  • केंद्र सरकार से राज्‍य को विशेष सहायता देने का आग्रह

आनंद कुमार सोनी

लोहरदगा। लोहरदगा के सांसद सुदर्शन भगत ने संसद में झारखंड में हुई बेहद कम वर्षा का मुद्दा उठाया। केंद्र सरकार को सदन के माध्यम से अवगत कराया। राज्‍य को सूखाग्रस्‍त घोषित करते हुए विशेष सहायता की घोषणा करने की बात कही।

सांसद ने कहा कि बरसात में झारखंड में हुई बेहद कम बारिश हुई है। गुमला, लोहरदगा एवं रांची के मांडर में अधिकांश लोगों की आजीविका कृषि कार्यों से प्राप्त आय पर चलती हैं I लोगों की प्रमुख आय के साथ-साथ वर्ष भर की खाद्य सामग्री के रूप में धान की फसल बहुत महत्व रखती है।

सांसद ने कहा कि झारखंड में कृषि की स्थिति के आधार पर यहां की अर्थव्यवस्था निर्भर है। राज्‍य में इस साल अपेक्षा एवं आवश्यकता के अनुरूप वर्षा नहीं होने के कारण धान की रोपनी नहीं हो रही है। वर्षा आधारित कृषि होने के कारण झारखंड के किसान धान सहित अन्य जरूरी फसलों की बुआई नहीं कर पा रहे हैं।

सांसद ने कहा कि ग्रामीण अंचल में लोगों को कम वर्षा से उत्पन्न स्थिति के कारण बहुत नुकसान होने जा रहा है। पूरे वर्ष भर उन्हें कठिनाईयों का सामना करना पड़ेगा। राज्य की आर्थिक स्थिति पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा।

भगत ने सरकार से आग्रह किया कि राज्‍य के हालात, किसान एवं जनता को होने वाली कठिनाइयों को देखते हुए झारखंड को सूखाग्रस्‍त घोषित किया जाए। किसान एवं ग्रामीणों के हितों को ध्यान में रखते विशेष सहायता की घोषणा की जाये, ताकि झारखंड की जनता सूखे से उत्पन्न स्थिति का सामना कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.