राउंड टेबल परामर्श में पश्चातवर्ती देखरेख और पालन पोषण पर चर्चा

झारखंड
Spread the love

रांची। झारखंड राज्य बाल संरक्षण संस्था, महिला, बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग झारखंड सरकार ने यूनिसेफ और सेंटर फॉर चाइल्ड राइट्स (NUSRL) के सहयोग से आफ्टर केयर (पश्चातवर्ती देख रेख) और फोस्टर केयर (पालन पोषण देखरेख) पर एक दिवसीय राउंड टेबल परामर्श का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में दिल्ली, राजस्थान, असम, और झारखंड के विभिन्न जिलों के जिला बाल सुरक्षा अधिकारी, जिला बाल सुरक्षा समिति के सदस्य और बच्चो के साथ काम करने वाले विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि शामिल हुए।

एक दिवसीय राउंड टेबल परामर्श में पश्चातवर्ती देखरेख और पालन पोषण देखरेख से संबंधित सभी पहलुओं में चर्चा की गई। यह मंथन हुआ कि आने वाले समय में किस तरह प्रदेश के बाल सुरक्षा कार्यक्रम को बेहतर बनाया जा सकता है।

कार्यक्रम के प्रथम सत्र में पश्चातवर्ती देखरेख के राष्ट्रीय अनुभव पर बात करते हुए मिस मौसमी (जिनका पालन  अनाथालय में हुआ) और मिस नूपुर ने ऐसे लोग जो चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूट में पले बढ़े बच्चों के संगठन की महत्व पर चर्चा की। ये किस तरह एक दूसरे की सहायता करते है या कर सकते है, इस पर अपने अनुभव को साझा किया।

कार्यक्रम में मिस लीना ने पश्चातवर्ती देखरेख की गाइडलाइन और किस तरह इसे बेहतर तरीके से क्रियान्वित किया जा सकता है, इसपर चर्चा करते हुए उदयन केयर संस्था के अनुभव को साझा किया। एक दिवसीय कार्यक्रम में पालन पोषण एवं देखरेख कार्यक्रम से संबंधित विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की गई।

चर्चा करते हुए विशेषज्ञों ने इसकी महत्ता को साझा किया। यह बताया कि फोस्टर केयर (पालन पोषण और देखरेख) और अडॉप्शन दोनों अलग कार्यक्रम है। इसके आधारभूत अंतर को समझना जरूरी है। कार्यक्रम के अंतिम सत्र में यह चर्चा की गई कि आफ्टर केयर और फोस्टर केयर कार्यक्रम को झारखंड में प्रभावी रूप से कार्यान्वित करने के लिए रूपरेखा तैयार की गई।

इस सत्र में पूर्णिमा मुखर्जी जेएसएलपीएस और मनीष झालसा और प्रीति श्रीवास्तव यूनिसेफ ने अपने सुझाव और संभावित सहयोग की जानकारी महिला, बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग झारखंड सरकार को दी।

खबरें और भी हैं। इसे आप अपने न्‍यूज वेब पोर्टल dainikbharat24.com पर सीधे भी जाकर पढ़ सकते हैं। नोटिफिकेशन को अलाउ कर खबरों से अपडेट रह सकते हैं। सुविधा के अनुसार अन्‍य खबरें पढ़ सकते हैं।

आप अपने न्‍यूज वेब पोर्टल से फेसबुक, इंस्‍टाग्राम, x सहित अन्‍य सोशल मीडिया के साथ-साथ सीधे गूगल हिन्‍दी न्‍यूज पर भी जुड़ सकते हैं। यहां भी खबरें पढ़ सकते हैं। अपने सुझाव या खबरें हमें dainikbharat24@gmail.com पर भेजें।

हमसे इस लिंक से जुड़े
https://chat।whatsapp।com/DHjL9aXkzslLcQKk1LMRL8

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *