02/12/2021

Category: विचार / फीचर

लोकतंत्र की बुनियाद है भारतीय संविधान ओम बिरला
विचार / फीचर

लोकतंत्र की बुनियाद है भारतीय संविधान

ओम बिरला भारत विश्व का महानतम कार्यशील लोकतंत्र है। ऐसा ना केवल इसके विशाल आकार, अपितु इसके बहुलतावादी स्वरूप और समय की कसौटी पर खरे उतरने के कारण है। लोकतांत्रिक परंपराएं और सिद्धांत भारतीय सभ्यता की विरासत के अभिन्न अंग रहे हैं। हमारे समाज में समता, सहिष्णुता, शांतिपूर्ण सहअस्तित्व और लोकतांत्रिक मूल्यों पर आधारित जीवन […]

Read More
मेलों से नहीं, दृष्टिकोण में परिवर्तन से होगा बचपन संरक्षित
विचार / फीचर

मेलों से नहीं, दृष्टिकोण में परिवर्तन से होगा बचपन संरक्षित

प्रियंक  कानूनगो बाल अधिकार एक ऐसा विषय है, जिसे वैश्विक स्तर पर जितनी अहमियत दी गई है। उसकी तुलना में हमारे देश में आजादी के बाद 6-7 दशक तक यह अनदेखा रहा। इसी अनदेखी के चलते समय की मांग के अनुसार ना तो कोई नई दृष्टि विकसित हो पाई है और ना ही हम अपनी […]

Read More
भारत के गौरव हैं भगवान बिरसा मुंडा
विचार / फीचर

भारत के गौरव हैं भगवान बिरसा मुंडा

डॉ एल मुरुगन वर्तमान में भारत आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। दमनकारी ब्रिटिश राज के खिलाफ मातृभूमि की स्वतंत्रता के लिए निडर होकर प्रयास करनेवाले महान सेनानियों में एक विशिष्ट नाम है-भगवान बिरसा मुंडा। बिरसा मुंडा ने केवल पच्चीस वर्षों का छोटा, लेकिन बहादुरी से भरा जीवन व्यतीत किया। वीरतापूर्ण कार्यों और उनकी […]

Read More
जनजातीय गौरव दिवस : जनजातीय गौरव के लिए राष्ट्र प्रतिबद्ध अर्जुन मुंडा : फाईल फोटो
विचार / फीचर

जनजातीय गौरव दिवस : जनजातीय गौरव के लिए राष्ट्र प्रतिबद्ध

अर्जुन मुंडा भारत दुनिया का एक अनूठा देश है, जहां 700 से अधिक जनजातीय समुदाय के लोग निवास करते हैं। देश की ताकत, इसकी समृद्ध सांस्कृतिक विविधता में निहित है। जनजातीय समुदायों ने अपनी उत्कृष्ट कला और शिल्प के माध्यम से देश की सांस्कृतिक विरासत को समृद्ध किया है। उन्होंने अपनी पारंपरिक प्रथाओं के माध्यम […]

Read More
ये है केदारनाथ की तीर्थ यात्रा का महत्व
विचार / फीचर

ये है केदारनाथ की तीर्थ यात्रा का महत्व

प्रो एस सी बागड़ी मंदाकिनी नदी के तट पर चोरबाड़ी झील के नीचे 3,583 मीटर की ऊंचाई पर स्थित केदारनाथ मंदिर की महिमा स्कंद पुराण में  मिलती है। मंदाकिनी घाटी अतीत में एक विशाल हिमनद से भरी हुई थी जो अब पिघल गया है। यह नदी कई तीर्थ स्थानों केदारनाथ, रामबाड़ा, गौरीकुंड, उकीमठ, गुप्तकाशी, चंद्रपुरी […]

Read More
भारतीय कृषि में झलकती आधुनिकता, पुरानी प्रथाओं पर घटी निर्भरता सौजन्‍य : जेएसएलपीएस
विचार / फीचर

भारतीय कृषि में झलकती आधुनिकता, पुरानी प्रथाओं पर घटी निर्भरता

शोभा करंदलाजे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय कृषि एक युगांतकारी दौर में है। इस दौरान किसान बिना किसी बाधा के विभिन्न कल्याणकारी उपायों और योजनाओं का अधिकतम लाभ प्राप्त कर रहे हैं। सत्ता में आने के बाद से वर्तमान सरकार ने देश की कृषि क्षेत्र की निर्भरता को समाप्त कर आत्मनिर्भर बनाने के […]

Read More
समन्वय के साथ हो रहा है अवसंरचना विकास हरदीप एस पुरी
विचार / फीचर

समन्वय के साथ हो रहा है अवसंरचना विकास

हरदीप एस पुरी यदि संदर्भ के लिए किसी उदाहरण की आवश्यकता हो, तो इतिहास सटीक साक्ष्य प्रदान करता है। साम्राज्य की स्थापना होती है, यह समृद्धि प्राप्त करता है। फिर इसका पतन शुरू होता है। कनेक्टिविटी और लॉजिस्टिक्स, इस तथ्य का यदि संपूर्ण नहीं, तो आंशिक तौर पर स्पष्टीकरण प्रदान करते हैं। चंद्रगुप्त मौर्य और […]

Read More
प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन : जनस्वास्थ्य प्रणाली बनेगी सुदृढ़ डॉ मनसुख मंडाविया
विचार / फीचर

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन : जनस्वास्थ्य प्रणाली बनेगी सुदृढ़

डॉ मनसुख मंडाविया कोविड-19 महामारी ने हमारे सामने जटिल चुनौतियां खड़ी कीं, जिसमें स्वास्थ्य के संदर्भ में उभरती स्थितियों के प्रति तुरंत कार्रवाई की मांग की गई। ऐसे समय में आवश्यकता महसूस की गई एक ऐसी व्यवस्था की जिससे देशभर में स्वास्थ्य प्रणालियों के लिए एक व्यापक दृष्टिकोण तैयार किया जाए तथा जिसके माध्यम से […]

Read More
कांग्रेस की जीत में कितना कारगर सिद्ध होगा नया नारा ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’
विचार / फीचर

कांग्रेस की जीत में कितना कारगर सिद्ध होगा नया नारा ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं’

निखिल कुमार सिंह उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की प्रियंका गांधी की सक्रियता जिस तरह तेजी से बढ़ती जा रही है, उससे देखकर यह लगता है कि आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर किसी तरह की कोई कमी नहीं रह जाए। इसके लिए प्रियंका गांधी तिल तक परखने का ध्यान रख रही हैं। नया नारा है ‘लड़की […]

Read More
कोविड के बाद वैक्सीन सुपरपॉवर के नाम से जाना जाएगा भारत
विचार / फीचर

कोविड के बाद वैक्सीन सुपरपॉवर के नाम से जाना जाएगा भारत

डॉ बलराम भार्गव भारत ने कोरोना वैक्‍सीनेशन में 100 करोड़ डोज लगाने का आंकड़ा छूकर एक नया कीर्तिमान बनाया है। विश्‍व में लगी 700 करोड़ वैक्‍सीन में से सातवां हिस्‍सा भारत का है। खास बात यह रही है कि भारत ने सिर्फ टीकाकरण ही नहीं किया, बल्कि दो-दो सफल वैक्‍सीन निर्माण के बाद विश्‍व में […]

Read More