Ranchi: उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही लोक आस्था का महा पर्व छठ संपन्न

झारखंड
Spread the love

रांची। लोक आस्था और प्रकृति के पावन पर्व छठ का आज सोमवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही समापन हो गया। राजधानी रांची में इसे बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। जगह-जगह घाटों का निर्माण किया गया और छठव्रतियों ने इसमें उतरकर भगवान सूर्य की उपासना की।

कांके डैम पर छठव्रतियों की भारी भीड़ देखी गई। श्यामनगर निवासी अनिल यादव की पत्नी अनिता यादव ने भी भगवान भास्कर की उपासना की। कांके डैम स्थित घाट पर सूर्य को अर्घ्य देने के समय उनके साथ कुछ स्थानीय लोग भी अर्घ्य में शामिल हुए। उस समय का नाजारा बड़ा ही मनमोहक था। बड़ी बेटी अनुष्का और बेटी छोटी ने भी मां का भरपूर सहयोग किया।  

कांके ब्लॉक चौक स्थित अरसंडे छठ घाट पर बिरसा कृषि विश्व विद्यालय की लाइब्रेरियन मीरा शर्मा ने मां छठी का व्रत रखा था। उनके इस अनुष्ठान में भाई अनिमेश, उनके पिता, मां, दीदी, भाभियां और बेटा संदेश ने खूब बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।

छठ घाट पर जोड़े-जोड़े फलवा सुरुज देव… घटवा पे तीवई चढ़ावेले हो… जल बीच खड़ा होई दर्शन ला आसरा लगावेले हो… और चारू पहर राती जल-थल सेइला…सेइला चरन तोहार ये छठी मईया…दर्शन दीहिना आपार… दर्शन दीहिना आपार ये दीनानाथ…जैसे पारंपरिक छठ गीतों से गूंजायमान रहा।

हर ओर भक्ति में विभोर श्रद्धालु नजर आए। छठ के गीत को गाते हुए श्रद्धालु फल और पूजन सामग्री छठ घाटों पर पहुंच रहे थे। सूरज के उदयमान होने से पहले छठ घाटों पर श्रद्धालुओं की भीड़ नजर आई। सभी सोमवार तड़के घाटों पर पहुंचकर पूजा की तैयारी कर रहे थे। महिला से लेकर पुरुष, बुजुर्ग, गरीब-अमीर सब एक ही भावना और भक्ति में नजर आए।

महिलाएं, पुरुष और बच्चे सभी में उत्साह देखा गया। इस दौरान खूब आतिशबाजी भी हुई। लोग अपने सिर पर प्रसाद का सामान ले जाते दिखे। पूरा इलाका अगरबत्तियों की खुश्बू से महक उठा। 

खबरें और भी हैं। इसे आप अपने न्‍यूज वेब पोर्टल dainikbharat24.com पर सीधे भी जाकर पढ़ सकते हैं। नोटिफिकेशन को अलाउ कर खबरों से अपडेट रह सकते हैं। सुविधा के अनुसार खबरें पढ़ सकते हैं।

आपका अपना न्‍यूज वेब पोर्टल से फेसबुक, इंस्‍टाग्राम, x सहित अन्‍य सोशल मीडिया के साथ सीधे गूगल पर जाकर भी जुड़ सकते हैं। अपने सुझाव या खबरें हमें dainikbharat24@gmail.com पर भेजें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *