स्‍कूलों के MDM और SSA का सोशल ऑडिट को लेकर दिशा-निर्देश जारी, देखें यहां

झारखंड
Spread the love

रांची। झारखंड के 7000 स्‍कूलों का MDM और SSA का सोशल ऑडिट संयुक्त रूप से 10 अगस्त, 2023 से होना है। इसके आलोक में अगस्त 2023 से स्‍कूलों में ऑडिट की प्रकिया का शुरू करने के लिए ऑडिट कैलेंडर भेजा जा चुका है। ग्रामीण विकास विभाग की सोशल ऑडिट यूनिट ने आदेश जारी किया है।

जारी आदेश में कहा गया है कि 10 अगस्त, 2023 से MDM और SSA का सामाजिक अंकेक्षण आरम्भ किया जाना है। इससे संबंधित दिशा निर्देशों का पालन सामाजिक अंकेक्षण के सदस्यों के द्वारा किया जाना अपेक्षित है।

ये है दिशा-निर्देश

3 श्रोत व्यक्तियों का एक टीम होगा। 1 सदस्य MDM और 2 सदस्य SSA के सामाजिक अंकेक्षण के सहजकर्ता होंगे।

फोटो कॉपी (फॉर्मेट/मॉगपत्र) के लिए प्रति पृष्ठ अधिकतम 2 रुपये भुगतान किया जाएगा। प्रति विद्यालय खर्च की अधिकतम सीमा 100 रुपये है। फोटोकॉपी की जिम्मेवारी प्रत्येक टीम के टीम लीडर / संबंधित जिला के डीआरपी की होगी।

MDM / SSA के सामाजिक अंकेक्षण समाप्त होने की तिथि से 15 दिनों के अंदर संबंधित जिला के डीआरपी पेमेन्ट शीट (रिसोर्स पर्सन फीस एवं यात्रा व्यय) भरा हुआ मांग पत्र, फोटो कॉपी का बिल BRP/VRP का पेमेंट का एक्सल शीट और पूर्ण डाटा एंट्री का एक्सल शीट SAU राज्य कार्यालय को अनिवार्य रूप से भेजना सुनिश्चित करेंगे।

MDM के डाटा इंट्री के लिए 50 रुपये और SSA के डाटा इंट्री के लिए 50 रुपये भुगतान किया जाएगा। डाटा एंट्री पूर्ण होने के बाद ही ऑडिट टीम को मानदेय का भुगतान किया जाएगा।

जिले मे MDM / SSA के सामाजिक अंकेक्षण की मॉनिटरिंग के लिए प्रति जिला अधिकतम 4,000 रुपये यात्रा व्यय के रूप मे देय होगा। प्रत्येक जिले मे MDM / SSA के मॉनिटरिंग की जिम्मेवारी DRP/BRP-FC की होगी।

MDM/SSA के सामाजिक अंकेक्षण प्रतिवेदन एवं ज्यूरी डि‍सीजन रिपोर्ट का स्कैन किया गया। कॉपी शिक्षा विभाग के जिला शिक्षा कार्यालय को इमेल के माध्यम से भेजा जाय। प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी एंव SAU राज्य कार्यालय को भी CC में रखा जाय।

सामाजिक अंकेक्षण टीम विद्यालय में होने वाले असेंबली में पहुंचे।

ऑडिट के दौरान अभिभावक और गांव के सदस्य उपस्थित होंगे। उनका अपेक्षित सहयोग लें।