Jharkhand: जसीडीह के रास्ते अब दौड़ेगी वंदे भारत एक्सप्रेस, जानें बाबानगरी से कितने समय में पूरी होगी पटना-कोलकाता की यात्रा 

झारखंड
Spread the love

रांची। यात्रीगण कृपया ध्यान दें। झारखंड के देवघर (Deoghar) समेत संथाल परगना वासियों को अगस्त के महीने में रेल मंत्रालय की तरफ से बड़ी सौगात मिलने वाली है।

दरअसल, संथाल परगना के जसीडीह स्टेशन को अब जल्द ही हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत ट्रेन की सौगात मिलने वाली है। आज (शनिवार) वंदे भारत ट्रेन का सफल ट्रायल भी किया गया। बता दें कि, आज पटना से हावड़ा के लिए वंदे भारत ट्रेन का परिचालन किया गया।

यह सुबह 8 बजे पटना से रवाना होकर पटना सिटी मोकामा लखीसराय में रुकने के बाद 10:58 पर जसीडीह पहुंची। इसके बाद जसीडीह से आसनसोल और फिर 2:30 हावड़ा ट्रेन पहुंची। वहीं इस दौरान स्टेशन मास्टर रवि शेखर ने बताया कि, जसीडीह स्टेशन अब जल्द ही हाई स्पीड ट्रेन से जुड़ने जा रहा है।

वहीं आज वंदे भारत ट्रेन का सफल ट्रायल किया गया। इस दौरान वंदे भारत ट्रेन को देखने के लिए जसीडीह स्टेशन पर लोगों की भीड़ जुटी हुई थी। वहीं लोगों में ट्रेन के साथ सेल्फी लेने की होड़ लगी रही।

वहीं यात्रियों ने कहा कि, यह एक बहुत बड़ी सौगात पटना और हावड़ा जाने वाले यात्रियों के लिए होगी। इसके परिचालन से यहां के यात्रियों को काफी सहूलियत होगी और महज ढाई से तीन घंटे में जसीडीह से पटना या कोलकाता का सफर तय किया जा सकेगा। वहीं वंदे भारत ट्रेन में कुल आठ कोच हैं, जिसमें एक इंजन पांच जनरल बोगी के साथ दो एग्जीक्यूटिव चेयर कार मौजूद है।

जसीडीह रेलवे स्टेशन को संताल परगना का प्रवेश द्वार भी कहा जाता है। संताल परगना के सभी जिलों देवघर, दुमका, गोड्डा, साहेबगंज, पाकुड़ और जामताड़ा के अलावा भागलपुर और जमुई से हर रोज हजारों यात्री जसीडीह रेलवे स्टेशन के रास्ते अपनी मंजिल की ट्रेन पकड़ने यहां आते हैं।

जसीडीह रेलवे स्टेशन आसनसोल रेल डिवीजन के अंतर्गत ए ग्रेड की सूची में भी शामिल है। ऐसे में जसीडीह के रास्ते वंदे भारत का परिचालन शुरू हो जाने से न सिर्फ इस इलाके से रेल में सफर करने वाले मुसाफिरों के समय की बचत होगी। बल्कि, एक ही दिन ने पटना और कोलकाता से अपना काम पूरा कर घर वापस लौट पाएंगे।