खेल प्रतिभा का प्रदर्शन, साथ में यूपी की कला-संस्कृति का दर्शन

खेल उत्तर प्रदेश देश
Spread the love

  • खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स की रोइंग प्रतियोगिता में गोरखपुर आएंगे देशभर के युवा खिलाड़ी

गोरखपुर (उत्तर प्रदेश)। खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स में हिस्‍सा लेने आ रहे खिलाड़ियों को अपनी खेल प्रतिभा का प्रदर्शन करने के साथ उत्तर प्रदेश की कला-संस्कृति के दर्शन का भी अवसर प्राप्त होगा। गोरखपुर की मेजबानी में रामगढ़ताल में 27 से 31 मई तक होने वाली रोइंग प्रतियोगिता में शामिल होने आ रहे खिलाड़ी यूपी की खास नृत्य कलाओं व लोकगायन का आनंद भी ले सकेंगे।

बदली तस्‍वीर के बने साक्षी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा है कि खेलो इंडिया गेम्स के प्रतिभागी यूपी की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत और विकास की बदली तस्वीर के भी साक्षी बनें। उन्हें यहां की विशिष्ट कलाओं को भी समझने का अवसर मिले। इसी के अनुरूप अपर मुख्य सचिव खेल नवनीत सहगल की देखरेख में संपूर्ण आयोजन की रूपरेखा भी तय की गई है। तैयार कार्ययोजना के मुताबिक खेलो इंडिया के मेजबान शहरों में प्रतियोगिता के साथ ही खिलाड़ियों के लिए सांस्कृतिक संध्या का भी आयोजन किया जायेगा। इसमें विभिन्न विधाओं के कलाकार अपनी प्रस्तुतियां देंगे।

चयन प्रक्रिया अंतिम चरण में

गोरखपुर में रोइंग प्रतियोगिता रामगढ़ताल में होगी तो उसके समीप स्थित योगिराज बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह एवं सांस्कृतिक केंद्र में सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया जाएगा। सांस्कृतिक संध्या के आयोजन की जिम्मेदारी उप निदेशक (संस्कृति) डॉ मनोज गौतम को दी गई है। डॉ मनोज गौतम के अनुसार गोरखपुर में खेलो इंडिया के प्रतिभागी खिलाड़ियों के लिए अलग-अलग दिन मयूर नृत्य, राई नृत्य, धोबिया नृत्य, इंद्रासनी नृत्य, कथक नृत्य व लोकगायन के कार्यक्रम होंगे। इसके लिए कलाकारों के चयन की प्रक्रिया अंतिम दौर में है।

देश भर के खिलाड़ी आएंगे गोरखपुर

स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के दिशानिर्देशों के मुताबिक रोइंग प्रतियोगिता में 2000 मीटर व 500 मीटर के लिए पुरूष वर्ग में 8-8 और महिला वर्ग में 7-7 इवेंट होंगे। गोरखपुर के रामगढ़ताल में होने वाले इन सभी 30 इवेंट में देश के अलग अलग 24 विश्वविद्यालयों के कुल 471 खिलाड़ी प्रतिभाग करेंगे। साथ में कोच व सपोर्टिंग स्टाफ भी होंगे।

जिन विश्वविद्यालयों से खिलाड़ियों ने पंजीकरण कराया है, उनमें एलएन मिथिला विश्वविद्यालय दरभंगा, गुरु नानक देव विश्वविद्यालय अमृतसर, गुरु काशी विश्वविद्यालय पंजाब, केआईआईटी भुवनेश्वर, महात्मा फुले कृषि विद्यापीठ रहुरी महाराष्ट्र, एमआईटी आर्ट, डिजाइन एंड टेक्नोलॉजी विश्वविद्यालय पुणे, उस्मानिया विश्वविद्यालय हैदराबाद, पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़, पीपुल्स एजुकेशन सोसायटी (पीईएस) विश्वविद्यालय बंगलुरु, पंजाब विश्वविद्यालय पटियाला, शिवाजी विश्वविद्यालय कोल्हापुर, श्री रामचंद्र इंस्टिट्यूट ऑफ हायर एजुकेशन एंड रिसर्च चेन्नई, सिस्टर निवेदिता विश्वविद्यालय कोलकाता, सावित्री बाई फुले विश्वविद्यालय पुणे, मद्रास विश्वविद्यालय, चंडीगढ़ विश्वविद्यालय मोहाली, राजेंद्र सिंह विश्वविद्यालय प्रयागराज, कलकत्ता विश्वविद्यालय, लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी फगवाड़ा, केरला विश्वविद्यालय, यशवंतराव चव्हाण महाराष्ट्र ओपन यूनिवर्सिटी नासिक, भारती विद्यापीठ पुणे, खुशाल दास विश्वविद्यालय राजस्थान, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र शामिल हैं।