कव्वाली-प्रवचन के बहाने धर्मांतरण का ‘खेल’ 18 लोग गिरफ्तार, ऐसे खुला राज

उत्तर प्रदेश अपराध देश
Spread the love

उत्तर प्रदेश। बड़ी खबर उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से आयी है। यहां पुलिस ने धर्मांतरण कराने वाले एक बड़े गैंग का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने मामले में 18 लोगों को गिरफ्तार भी किया है।

पुलिस का दावा है कि धार्मिक प्रवचन और कव्वाली आयोजन के नाम पर लोगों को धर्मांतरण के लिए तैयार किया जाता था। पिछले हफ्ते हुई इस कार्रवाई में बाराबंकी का ‘मास्टरमाइंड’ सिकंदर भी शामिल था।

पुलिस अब उन लोगों की तलाश कर रही है, जिनसे आरोपियों ने संपर्क किया था और उनका धर्मांतरण (Conversion) कराने में सफल रहे थे। पुलिस के अनुसार, सिकंदर और उसके साथियों ने देवगांव क्षेत्र के चिरकीहित गांव में किसी सांस्कृतिक कार्यक्रम के आयोजन का लुक दिया था। यहां कव्वाली का आयोजन भी किया जा रहा था।

इसके साथ ही कथित तौर पर इस्लाम की प्रशंसा और हिंदू धर्म तथा इसकी परंपराओं की आलोचना करते हुए धर्मांतरण के लिए लुभावने प्रस्ताव भी लोगों के सामने रखे जा रहे थे। जानकारी मिलने पर आजमगढ़ के एसपी अनुराग आर्य पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।

अनुराग आर्य ने बताया कि बीती 25 मई को जब पुलिस मौके पर पहुंची. तो वहां कव्वाली और प्रवचन का सत्र चल रहा था। इस दौरान मौके पर भारी भीड़ जमा थी। जब आरोपियों की गिरफ्तारी की गई, तब भीड़ को काबू में करने के लिए अतिरिक्त फोर्स बुलाना पड़ा।

उन्होंने बताया कि आरोपियों पर गैर-कानूनी धार्मिक रूपांतरण निषेध एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। इसके तहत आरोपियों के दोषी पाए जाने पर 10 साल तक की जेल की सजा हो सकती है।

पुलिस का दावा है कि सिकंदर और अन्य लोगों ने पूछताछ के दौरान कबूल किया है कि उन्होंने इस कार्यक्रम में लोगों को धर्मांतरण के लिए लामबंद किया था और उन्हें इस तरह की गतिविधियों के लिए पैसे भी मिले थे।

अनुराग आर्य ने बताया कि पुलिस को मुखबिर से अवैध धर्मांतरण के इस रैकेट की सूचना मिली थी। गिरोह का सरगना सिकंदर मैनपुर गांव का रहने वाला है। तकरीर के अलावा सिकंदर बीमारी ठीक करने के बहाने लोगों को प्रलोभन देता था और धर्मांतरण की कोशिश करता था।

बताया गया कि धर्मांतरण गिरोह का सरगना सिकंदर अपने साथ एक टीम लेकर चलता है, जो 5 से 6 घंटे तक लगातार कार्यक्रम करके प्रवचन में उसकी मदद करते थे। पुलिस ने मामले में 18 लोगों को गिरफ्तार करने का दावा किया है।

इसके साथ ही पुलिस ने 7 त्रिशूल, मुस्लिम धर्मगुरुओं की फोटो, हारमोनियम, साउंड बॉक्स, कार, बुलेट, टैंपो और जनरेटर भी अपने कब्जे में लिया है।