शिक्षक मोर्चा का राजभवन के समक्ष धरना, निराकरण के सुझाव के साथ सीएम को सौंपा मांग पत्र

झारखंड
Spread the love

  • राज्‍य के विभिन्‍न जिलों से धरना में शामिल हुए शिक्षक-शिक्षिकाएं

रांची। शिक्षा एवं शिक्षक बचाओ को लेकर झारखंड प्रदेश संयुक्त शिक्षक मोर्चा में शामिल संगठन के सदस्‍यों ने 21 जनवरी को राजभवन के समक्ष सांकेतिक धरना-प्रदर्शन किया। इसमें राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ झारखंड प्रदेश (प्राथमिक प्रकोष्ठ), झारखंड राज्य उर्दू शिक्षक संघ, झारखंड स्टेट प्राईमरी टीचर्स एसोसिएशन एवं राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ +2 संवर्ग के सदस्‍य शामिल थे। धरना में राज्‍य के विभिन्‍न जिलों से शिक्षकों ने हिस्‍सा लिया। मुख्‍यमंत्री के नाम मांग पत्र सौंपा। इसमें समस्‍या के निराकरण भी सुझाये गये हैं।

सदस्‍यों ने राज्‍य के तृतीय वर्ग कर्मचारियों के अनुरुप प्राथमिक शिक्षकों को पूर्व की भांति सीमित उप समाहर्ता प्रतियोगिता आदेश परीक्षाओं में शामिल होने का मौका दिए जाने की मांग भी की।

धरना को सफल बनाने में मोर्चा के संयोजक मंडल के सदस्यों में से विजय बहादुर सिंह, अमीन अहमद, अरुण कुमार दास, मंगलेश्वर उरांव, प्रेम प्रसाद राणा, सुधांशु कुमार सिंह, शैलेंद्र कुमार सुमन, अशोक मिश्रा, मकसूद जफर हादी, मुमताज अहमद, सभा संचालन समिति के संजय राय, नीरज कुमार, मोशाहरा अंजुम, स्वागत समिति के सोमेश मिश्रा, अजय कुमार, ओम प्रकाश मिश्रा, अरुण कुमार, राकेश श्रीवास्तव, संजय कुमार, संगीता रानी, रकीम रोशन, असरार अहमद, फखरुद्दीन शामिल थे।

धरना में लोहरदगा से चोनहस उरांव, प्रदीप कुमार, रामगढ़ से सतेंद्र कुमार सिंह, अंजय कुमार अग्रवाल, गोड्डा से गौतम बैरागी, भगवान सोरेन, बोकारो से राघवेन्द्र सिंह, मुखिद आलम, चाईबासा से दशरथ प्रधान, भुनेश्वर मुंडारी, इनामुल हक, अब्दुल मजीद खान, सादिर अहमद, गुलाम अहमद, अब्दुल गफ्फार खान, सीन अनवर, मोहम्मद नसीमुद्दीन, नाजिम अशरफ, हैदर जिया, जीवननाथ तिवारी, शाहनवाज अंसारी, अवधेश कुमार राम,  सुनील कुमार, निरंजन कुमार, शंभू, दिलीप कुमार राय सहित राज्य के सभी जिलों से मोर्चा के सभी संगठन के सदस्‍य शामिल हुए।

मोर्चा की मुख्‍य मांगें और समाधान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *