भारत की इस महिला खिलाड़ी पर लगा 3 साल का बैन, ये वजह आई सामने

नई दिल्ली देश
Spread the love

नई दिल्ली। बड़ी खबर यह आ रही है कि वर्ल्ड एथलेटिक्स की एथलेटिक्स इंटीग्रिटी यूनिट ने ओलिंपियन डिस्कस थ्रोअर कमलप्रीत कौर पर तीन साल का प्रतिबंध लगा दिया है।

बुधवार को एआईयू ने एक ट्वीट में बताया कि पंजाब की रहने वाली 26 साल की एथलीट को उसके सैंपल में प्रतिबंधित पदार्थ (स्टैनोजोलोल) की उपस्थिति या उपयोग के कारण प्रतिबंधित कर दिया गया है।

एआईयू ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा था कि सैंपल इसी साल 7 मार्च को को पटियाला में लिया गया था। इसके बाद इसे टेस्ट के लिए भेजा गया और इसमेंस्टैनोजोलोल के अंश पाए गए।

कमलप्रीत कौर पर 29 मार्च 2022 से बैन लागू होगा। यानी वह अगले तीन साल तक किसी भी इवेंट में हिस्सा नहीं ले पाएंगी। उन्होंने 7 मार्च के बाद जिस भी इवेंट में हिस्सा लिया है, उसके परिणाम नहीं माने जाएंगे।

उन्हें 29 मार्च को एआईयू द्वारा अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया गया था। उनके परीक्षण में पाया गया है कि उन्होंने फरवरी 2022 में एक प्रोटीन सप्लीमेंट के दो स्कूप का सेवन किया, जिसमें स्टैनोजोलोल के अंश पाए गए हैं।

26 साल की कमलप्रीत कौर ने तोक्यो 2020 में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। उन्होंने क्वालीफाइंग राउंड में 64 मीटर का बेस्ट थ्रो किया। वह 31 एथलीट्स की लिस्ट में दूसरे नंबर पर रहीं। फाइनल में उनके मेडल की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन वह अपना क्वालीफाइंग का प्रदर्शन भी नहीं दोहरा पाईं।

63.7 मीटर के बेस्ट थ्रो के साथ वह छठे नंबर पर रहीं। उनका पर्सनल बेस्ट 66.59 मीटर है। वह इतना फेंकने में सफल होती, तो ब्रॉन्ज मेडल मिल जाता।

कमलप्रीत कौर ने पिछले साल इंडियन ग्रांड प्रिक्स में नेशनल रिकॉर्ड बनाया था। जून में 66.59 मीटर के थ्रो के साथ उन्होंने नेशनल रिकॉर्ड बनाया और तोक्यो ओलिंपिक में अपनी जगह भी पक्की की।