बिहार के पीएफआई मामले से जुड़े नूरुद्दीन उर्फ जंगी को यूपी एटीएस ने यहां से किया गिरफ्तार, जानें आगे

उत्तर प्रदेश देश
Spread the love

उत्तर प्रदेश। बिहार की राजधानी पटना के टेरर मॉड्यूल केस में अब तक कई लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। बिहार के फुलवारी शरीफ में टेरर मॉड्यूल का SIMI-PFI कनेक्शन सामने आया है। बिहार के PFI कनेक्शन में लखनऊ से नूरुद्दीन उर्फ जंगी को गिरफ्तार किया गया है।

पटना पुलिस के इनपुट पर यूपी एटीएस ने नूरुद्दीन उर्फ जंगी को लखनऊ से गिरफ्तार किया और पटना पुलिस को सौंप दिया। पटना पुलिस PFI कनेक्शन मामले में नूरुद्दीन की तलाश कर रही थी। वह पटना से भागकर लखनऊ में आकर छिपा था। बताया जा रहा है कि पीएफआई के सदस्यों की वह कोर्ट में पैरवी करता था।

बता दें कि पटना टेरर मॉड्यूल केस में गिरफ्तार किए गए लोग एक खास समुदाय के लोगों को ट्रेनिंग दे रहे थे। इसके बाद इस पूरे मामले की जांच एनआईए ने भी शुरू कर दी है। पटना पुलिस ने फुलवाशरीफ से अतहर परवेज और मोहम्मद जलालुद्दीन को गिरफ्तार किया था। इसके बाद मरगूब दानिश, अरमान मलिक और शब्बीर आलम को गिरफ्तार किया गया।

पटना पुलिस का दावा है कि खास समुदाय के लड़कों का ब्रेनवॉश करने के बाद उन्हें प्रशिक्षण सिमी का सदस्य अतहर परवेज दे रहा था। अतहर परवेज का भाई मंजर आलम पटना के गांधी मैदान में साल 2013 में पीएम मोदी की हुंकार रैली और बोध गया में हुए बम धमाकों के गिरफ्तार हुआ था। वो फिलहाल जेल में है। 

पुलिस ने कहा था कि दोनों संदिग्ध आतंकवादियों के तार पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) से जुड़े हैं। पुलिस ने इन दोनों के पास से पीएफआई का झंडा, बुकलेट, पंपलेट और कई संदिग्ध दस्तावेज बरामद किए हैं। जिसमें भारत को 2047 तक इस्लामिक मुल्क बनाने का जिक्र किया गया था।