spot_img
spot_img
Homeझारखंडझारखंड के जमशेदपुर में खुलेगा अनोखा अस्‍पताल, नहीं होगा बिलिंग काउंटर

झारखंड के जमशेदपुर में खुलेगा अनोखा अस्‍पताल, नहीं होगा बिलिंग काउंटर

  • अस्पताल खोलने के लिए केजीएम अस्पताल और एसएसएसएचईटी में समझौता

जमशेदपुर। झारखंड के जमशेदपुर के बिष्‍टुपुर में अनोखा अस्‍पताल खुलेगा। इसमें कोई बिलिंग काउंटर नीं होगा। अस्पताल सभी को हर तरह की स्वास्थ्य सेवाएं निःशुल्क प्रदान करेगा। इसका नाम श्री सत्य साईं संजीवनी अस्पताल है। इसके लिए कांतिलाल गांधी मेमोरियल अस्पताल (केजीएचएम) ने बेंगलुरु के श्री सत्य साईं स्वास्थ्य और शिक्षा ट्रस्ट (एसएसएसएचईटी) के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं।

श्री सत्य साईं संजीवनी अस्पताल न केवल झारखंड बल्कि आसपास के राज्यों के लोगों को भी सेवा प्रदान करेगा। कांतिलाल गांधी मेमोरियल अस्पताल के चेयरमैन चाणक्य चौधरी और श्री सत्य साई स्वास्थ्य और शिक्षा ट्रस्ट के चेयरमैन सी श्रीनिवास ने 10 जून, 2022 को समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इस अवसर पर उपस्थित लोगों में केजीएमएच और एसएसएसएचईटी की प्रबंधन समिति के सदस्य और टीडब्ल्यूयू के प्रतिनिधि राकेशेश्वर पांडे और बीके डिंडा सहित अन्य लोग शामिल थे।

श्री सत्य साईं संजीवनी अस्पताल समाज के वंचित और उपेक्षित वर्गों को सर्वश्रेष्ठ गुणवत्ता युक्त स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने के साझा दृष्टिकोण के साथ सेवा प्रदान करेगा। SSSHET 2012 से रायपुर (छत्तीसगढ़), पलवल (हरियाणा), खारघर (महाराष्ट्र) और यवतमाल (महाराष्ट्र) में इसी तरह के अस्पताल का संचालन करता है। अब तक, 20,000 से अधिक बच्चों को गंभीर बाल चिकित्सा कार्डियक सर्जरी करके और 1,70,000 से अधिक बच्चों को ओपीडी के जरिए इलाज प्रदान कर बचाया गया है। झारखंड से 1200 से अधिक बच्चों का ऑपरेशन किया गया। उन्हें जीवन का अनमोल उपहार प्राप्त हुआ। 4000 से अधिक बच्चों का आउट पेशेंट के रूप में इलाज किया गया।

श्री सत्य साईं संजीवनी अस्पताल अपने ‘सिर्फ दिल-बीना बिल’ करुणामय स्वास्थ्य सेवा मॉडल के लिए जाना जाता है। यहां इसके किसी भी अस्पताल में बिलिंग काउंटर नहीं हैं।

spot_img
- Advertisement -
Must Read
- Advertisement -
Related News