पंचायत प्रमुख पद के लिए एक वोट की कीमत लगाई 1 लाख, मामला पहुंचा थाने

Uncategorized
Spread the love

विवेक चौबे

गढ़वा। पंचायती चुनाव में मुखिया, पंचायत समिति सदस्य, जिला परिषद सदस्य और वार्ड सदस्य को जनता द्वारा चुना गया है। इस पद को पाने के लिए प्रत्याशियों में होड़ लगी हुई है। कांडी प्रखंड में प्रमुख पद के लिए बलियारी पंचायत के पंचायत समिति सदस्य सह झामुमो युवा नेता सह पूर्व प्रमुख प्रतिनिधि सत्येंद्र कुमार पांडेय उर्फ पिंकू पांडेय और कांडी पंचायत से पंचायत समिति सदस्य अनूप कुमार की पत्नी ममता देवी के बीच जबरदस्त टक्कर है।

इसे लेकर मंगलवार को ममता देवी को प्रमुख पद पर पदासीन करने के लिए अन्य पंचायत समिति सदस्य से संपर्क कर समर्थन करने और नियुक्त करने का कार्यक्रम चल रहा था। इस दौरान पांच लोगों द्वारा घटहुआं कला पंचायत के नवनिर्वाचित पंचायत समिति सदस्य सीता राम की पत्नी तारा देवी के घर पहुंचकर 99,500 रुपये देते हुए समर्थन करने की बात कही गई। धमकी देते हुए समर्थन करने और नहीं करने पर जातिसूचक शब्द का भी प्रयोग किया गया।

इस संबंध में कांडी थाना प्रभारी फैज रब्बानी ने बताया कि पंचायत समिति सदस्य तारा देवी के घर पर प्रमुख के पद पर अपने प्रत्याशी को निर्वाचित करने के लिए जबरन वोट देने का दबाव बनाया। सरकोनी गांव निवासी अजय सिंह, पतीला गांव निवासी विजय राम, भिलमा गांव निवासी शंभू नाथ पांडेय, चौका गांव निवासी सुनीत कुमार दुबे उर्फ पिंटू दुबे व पतीला गांव निवासी जयप्रकाश मेहता उक्त पंचायत समिति सदस्य के घर जाकर जबरदस्ती पैसा देने और जाति सूचक शब्दों का दुरुपयोग कर डरा धमका रहे थे। इस संबंध में कांडी थाना में कांड संख्या 65/022, धारा 171(ई)(एफ)/504/506/34 भादवि व 3(1)आई/3(1)(आर)/3(1)(s) एससी/एसटी एक्ट दर्ज किया गया।

कांड में बलपूर्वक पैसा देकर दबाव में अपने प्रत्याशी अनूप पासवान की पत्नी ममता देवी के पक्ष में अपना मत देने और नहीं देने पर जातिसूचक शब्द का प्रयोग करते हुए जबरदस्ती गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी देने के आरोप में उक्त सभी व्यक्तियों को प्राथमिकी अभियुक्त बनाया गया। अभियुक्त द्वारा जबरदस्ती दिए गए 99,500 रुपये को वादी के द्वारा प्रस्तुत किया गया, जिसे विधिवत जब्ती सूची बनाकर जब्त किया गया। उक्त सभी अभियुक्तों को विधिवत गिरफ्तारी करते हुए क्रेटा कार से 1,05,500 रुपये को बरामद कर विधिवत जब्त किया गया।

उक्त सभी अभियुक्त अपने प्रमुख प्रत्याशी को जिताने के लिए दो गाड़ी में घूम-घूमकर जबरन पैसा बांटने का काम कर रहे थे, जिससे निर्वाचन प्रभावित हो रहा था। साथ ही प्रत्याशी में भय का माहौल बन गया था। सभी अभियुक्तों को उचित अभिरक्षा में न्यायालय में उपस्थापन के लिए भेजा गया। कांड में प्रयुक्त काला रंग का क्रेटा कार व सफेद रंग का बोलेरो जब्त किया गया। छापामारी दल में पुलिस निरीक्षक संजय कुमार खाखा, कांडी एसआई सुमन कुमार शर्मा, एएसआई स्वामी रंजन ओझा, अविनाश कुमार द्विवेदी सहित पुलिस के अन्य जवान भी शामिल थे।