spot_img
spot_img
Homeझारखंडश्रावणी मेला के दौरान देवघर और बासुकीनाथ धाम में होगी इंद्र वर्षा

श्रावणी मेला के दौरान देवघर और बासुकीनाथ धाम में होगी इंद्र वर्षा

  • आयुक्‍त ने तैयारी की समीक्षा की, जरूरी निर्देश दिए

दुमका। राजकीय श्रावणी मेला महोत्सव 2022 की तैयारी को लेकर संथाल परगना प्रमंडल के आयुक्त चंद्र मोहन प्रसाद कश्यप की अध्यक्षता में बैठक हुई। इसमें देवघर और दुमका के उपायुक्त ने श्रावणी मेला के दौरान श्रद्धालुओं के लिए की जाने वाली व्यवस्थाओं की जानकारी दी।

आयुक्त ने कहा कि श्रावणी मेला के दौरान बाबाधाम तथा बासुकीनाथ धाम आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो, इसका ध्यान रखा जाए। पूर्व वर्ष के मुकाबले इस वर्ष कांवरियों की अधिक भीड़ होगी। श्रद्धालुओं के लिए सभी जरूरी सुविधा उपलब्ध रहे, इसे सुनिश्चित करें।

श्रावणी मेला के दौरान पर्याप्त एम्बुलेंस, ममता वाहन, ऑक्सीजन की व्यवस्था रखी जाए। डॉक्टरो की पूरी टीम श्रद्धालुओं का विशेष ख्याल रखे। जरूरी दवाईया एवं मैन पावर की कोई कमी नहीं हो। गर्मी को देखते हुए देवघर और बासुकीनाथ धाम में इंद्र वर्षा की व्यवस्था की जाए। श्रद्धालुओं के लिए बेहतर आवासन, पेयजल, शौचालय, मेला एवं कांवरिया रुट लाईन में स्वास्थ्य केन्द्र रहे।

आयुक्‍त ने कहा कि पूरे एक माह तक आयोजित इस मेले के दौरान की जाने वाली तैयारियों कि डिटेल प्लानिंग कर ले। श्रावणी मेला के दौरान विशेष जगहो को चिन्हित कर अग्निशमन यंत्र लगाया जाए, ताकि विशेष परिस्थिति में निपटा जा सके। श्रद्धालुओं की तादाद को देखते हुए बेहतर कन्ट्रोलरुम बनाये जाए। देवघर और बासुकीनाथ धाम में वाहनों की पार्किंग की बेहतर व्यवस्था की जाए। देवघर और बासुकिनाथ धाम मुख्य पथ पर साईनेज लगाये जाए। सभी कांवरियां पथ की मरम्मत भी की जाए।

आयुक्त ने कहा कि शिवगंगा की सफाई बेहतर ढंग से कर ली जाए। उन्होंने संबंधित विभाग के अधिकारी को निर्देश दिया कि पूरे रुट लाईन और मेला क्षेत्र में पर्याप्त रौशनी की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि सभी विभाग आपस में समन्वय बनाकर कार्य करें, ताकि बाबाधाम और बासुकीनाथ धाम का मेला सफलतापूर्वक संपन्न हो।

आयुक्त ने बाबा मंदिर स्थित सुविधा केंद्र में संचालित शौचालय को सुचारु रूप से कार्य करने के लिए साफ सफाई पर आवश्यक निर्देश दिये। बाबा मंदिर परिसर स्थित विभिन्न मंदिरों के गर्भ गृह की मरम्मत, रंगारोगन एवं जीर्णोद्धार का कार्य को ससमय पूरा करने का आदेश दिया। बढ़ती महंगाई को देखते हुए मंदिर में कार्यरत कर्मियों के वेतन में वर्तमान चालू वित्तीय वर्ष में बढ़ोतरी करने के निर्णय पर चर्चा किया गया। शिवगंगा स्थित जर्जर यात्री शेडो के पुननिर्माण का निर्देश दिया गया।

बासुकीनाथ में अत्याधुनिक सुविधायुक्त अस्पताल निर्माण को सर्वसम्मति से मंजूरी दी गई। बासुकीनाथ में श्रावणी मेला क्षेत्र अंतर्गत पार्किंग के लिए बस पड़ाव निर्माण एवं स्थाई शौचालय निर्माण के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

बैठक में डीआईजी सुदर्शन मंडल ने श्रावणी मेला के दौरान की जा रही सुरक्षा व्यवस्था के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी। साफ-सफाई के लिए कर्मियों को 3 शिफ्ट में ड्यूटी लगाया जाए, ताकि साफ सफाई का निरंतर जारी रहे। मेला क्षेत्र से ससमय अतिक्रमण हटाया जाए। आयुक्त ने बताया कि देवघर एवं दुमका श्रावणी मेला के लिए 4 करोड़ 50 लाख की स्वीकृति दी गई है। कांवरियां रूट लाइन में बनी यात्री शेड की ससमय मरम्मत कराना सुनिश्चित करें।

सम्पूर्ण मेला के दौरान खाद्य पदार्थों की जांच हो। सफलतापूर्वक मेला संपन्‍न कराने के लिए मेला शुरू होने के एक-दो दिन पहले सुरक्षा के दृष्टिकोण मॉक ड्रिल कराई जाए। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वाले पुलिस कर्मियों के रहने खाने की बेहतर व्यवस्था ससमय कर ली जाए। सभी ओपी निकटतम थाना से समन्वय स्थापित करते हुए कार्य करें।

बैठक में पुलिस अधीक्षक, दुमका सहित देवघर एवं दुमका के सभी संबंधित विभाग के वरीय अधिकारी उपस्थित थे।

spot_img
- Advertisement -
Must Read
- Advertisement -
Related News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here