spot_img
spot_img
Homeअन्य राज्यविशाखापत्तनम के 4.2 लाख ग्रामीणों की आजीविका बेहतर बनाने की पहल

विशाखापत्तनम के 4.2 लाख ग्रामीणों की आजीविका बेहतर बनाने की पहल

मुंबई। ग्रामीण क्षेत्रों के कल्याण कार्यक्रम को मजबूत करते हुए अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन (एसीएफ) ने एशियन पेंट्स के साथ साझेदारी की है। इसका उद्देश्य पानी और स्वास्थ्य संबंधी क्षेत्रों में अपनी पहल के माध्यम से विशाखापत्तनम के नौ गांवों में 4.2 लाख लोगों की आजीविका के स्तर को और बढ़ाना है। एशियन पेंट्स सीएसआर कार्यक्रम के एक भाग के रूप में एसीएफ इस परियोजना के लिए जल निकायों के पुनरुद्धार और वाटर फिल्ट्रेशन सिस्टम स्थापित करने का महत्वपूर्ण काम करेगा। साथ ही, अगले दो वर्षों के लिए जल संसाधनों और स्वास्थ्य और स्वच्छता के विवेकपूर्ण उपयोग को लेकर समुदाय के बीच जागरुकता पैदा करने के लिए एक कार्यान्वयन भागीदार के रूप में भी कार्य करेगा।

पीने के पानी की भंडारण क्षमता बढ़ाने के लिए एसीएफ पारंपरिक जल निकायों के पुनरुद्धार और जल संरचनाओं के निर्माण के कार्य को अंजाम देगा। इस परियोजना के साथ, एसीएफ का लक्ष्य इन गांवों के 28,700 लोगों को सुरक्षित पेयजल उपलब्ध कराना है, जहां हाई टीडीएस और अन्य जल गुणवत्ता मानकों के कारण भूमिगत जल पीने के लिए उपयुक्त नहीं है।

एशियन पेंट्स के साथ इस प्रोजेक्ट के तहत एसीएफ विशाखापत्तनम के एशियन पेंट्स प्लांट क्षेत्र के पास स्थित गांवों में स्वास्थ्य और स्वच्छता जागरूकता पैदा करने के लिए समुदायों के साथ मिलकर काम करेगा। इस पहल का उद्देश्य स्वास्थ्य और स्वच्छता के प्रति व्यवहार में बदलाव लाना और क्षेत्र के लोगों की स्वच्छता की आदतों में सुधार लाना होगा। इस पहल से अगले दो वर्षों में 9 गांवों के 1.3 लाख लोगों को लाभ होगा। यह परियोजना आशा, एएनएम की क्षमता निर्माण पर ध्यान केंद्रित करेगी और बेहतर स्वास्थ्य और स्वच्छता प्रथाओं के प्रति समुदाय के बीच जागरुकता पैदा करेगी।

एशियन पेंट्स के साथ नई साझेदारी के बारे में जानकारी देते हुए अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन की प्रेसीडेंट सुश्री पर्ल तिवारी ने कहा, ‘हम इस क्षेत्र में स्थानीय समुदायों के विकास के लिए वर्षों से काम कर रहे हैं। एशियन पेंट्स के साथ हमारी नई साझेदारी जल संसाधनों के संरक्षण और ग्रामीणों के बीच स्वास्थ्य और स्वच्छता के प्रति जागरुकता पैदा करके सुरक्षित पेयजल की उपलब्धता बढ़ाने के हमारे मिशन को और मजबूत करेगी। हमारा लक्ष्य इस परियोजना के साथ 9 गांवों में दो साल के भीतर 4.2 लाख लोगों तक पहुंचना है।’

अपने ग्रामीण आजीविका कार्यक्रम के तहत, एसीएफ पहले से ही क्षेत्र में जल प्रबंधन और स्वास्थ्य प्रबंधन संबंधी परियोजनाएं संचालित कर रहा है। हाल की बारिश के साथ, विशाखापत्तनम के हरिपुरम गांव में एक नवनिर्मित चेक डैम में लगभग 31,500 क्यूबिक पानी एकत्र हो गया है, जिससे 12 ट्यूबवेल रिचार्ज हो गए हैं और इससे क्षेत्र में रहने वाले 700 परिवारों को फायदा होगा।

अपनी सीएसआर संबंधी गतिविधियों की जानकारी देते हुए एशियन पेंट्स के प्रवक्ता ने कहा, ‘सामाजिक रूप से एक जिम्मेदार संगठन के रूप में, वंचित समुदायों का विकास और प्रगति हमेशा हमारी मूल फिलॉस्फी का एक अभिन्न पहलू रहा है। हम इस क्षेत्र में एसीएफ द्वारा किए गए पेयजल सुधार संबंधी कार्यों से वाकई बहुत प्रभावित हुए हैं और आशा करते हैं कि हमारी साझेदारी के साथ, हम अपने आस-पास के समुदायों के जीवन को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण प्रगति करने में सक्षम होंगे।’

spot_img
- Advertisement -
Must Read
- Advertisement -
Related News