फर्जी आइएएस मोनिका की मदद करने के आरोप में विधानसभा के आप्त सचिव पंकज पर गिरी गाज

अपराध
Spread the love

रांची। फर्जी आइएएस बनकर राजधानी रांची के अशोक नगर में रहने वाली कुमारी मोनिका को झारखंड भवन, दिल्ली में कमरा आवंटित किया गया था।

इस फर्जीवाड़े में झारखंड विधानसभा के आप्त सचिव पंकज कुमार की संलिप्तता सामने आई थी। विधानसभा अध्यक्ष के निर्देश के बाद पंकज कुमार को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। उन्हें अब केवल अगले आदेश तक जीवन भत्ता निर्वाह के रूप में मिलता रहेगा।

फर्जी आईएएस मोनिका को 23 जुलाई को रांची के अरगोड़ा थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया था। पुलिस की जांच में यह बात सामने आई थी कि मोनिका फर्जी आईएएस बनकर मकान संख्या C/06 में रह रही थी। यह घर डॉक्टर डीके राय का है। जिस घर में रह रही थी, उस घर पर मोनिका ने अपना नेम प्लेट लगा रखा थी। मोनिका ने अपने घर के मालिक डीके राय को बताया था कि वह प्रशिक्षु आईएएस अफसर हैं और फिलहाल उसकी तैनाती जमशेदपुर में असिस्टेंट कलेक्टर के रूप में है।

डॉ डीके राय को मोनिका की गतिविधियां संदिग्ध लगी। कई बार पूछताछ करने पर मोनिका उन्हें यही बताती कि फिलहाल वह छुट्टी पर हैं, इसलिए जमशेदपुर नहीं जा रही हैं। शक होने पर मामले की जानकारी अरगोड़ा थाने को दी गई थी।